इम्यूनो स्केल

अपने बच्चे के भोजन में इम्युनिटी बढ़ाने वाले पोषक तत्वों को मापें

इम्यूनो स्केल क्या है और यह किस तरह से काम करती है

AskNestlé ने इम्यूनो स्केल विकसित की है जिससे आप अपने बच्चे के खाने में इम्युनिटी बढ़ाने वाले पोषक तत्वों की मौजूदगी को माप सकते हैं

जब आप अपने बच्चे द्वारा खाए जाने वाले खाद्य पदार्थों का विवरण भरते हैं, तो इम्यूनो स्केल आपके बच्चे के खाने का विश्लेषण करेगी और उसमें इम्युनिटी बढ़ाने वाले पोषक तत्वों की मात्रा के बारे में बताएगी। यह आपके बच्चे की इम्युनिटी में सुधार के करने के तरीके भी बताएगी।

स्केल के चार रंग हैं जो ये चीजें बताएँगे -

  • लाल (RDA से नीचे): शरीर को रोज़ाना खाने के रूप में पोषक तत्वों की ज़रुरत होती है। आपके शरीर में इम्युनिटी बढ़ाने के लिए ये मुख्य माइक्रो न्यूट्रिएंट लेना ज़रूरी है। आपको नीचे दी गई रेकमेंडेड (अनुशंसित) रेंज के मुताबिक इनका सेवन करना चाहिए।
  • पीला:आप पोषक तत्व ले तो रहे हैं लेकिन ये कम हैं। आपको अपने शरीर में इम्युनिटी बढ़ाने के लिए रेकमेंडेड (अनुशंसित) रेंज के मुताबिक इन मुख्य माइक्रो न्यूट्रिएंट की मात्रा बढ़ानी चाहिए।
  • हरा : आप अच्छी मात्रा में इम्युनिटी बढ़ाने वाले पोषक तत्व ले रहे हैं। इसे जारी रखें और इससे आपको इम्युनिटी में निरंतरता बनाए रखने में मदद मिलेगी।
  • लाल (TUL से ऊपर): इन माइक्रो न्यूट्रिएंट का रेकमेंडेड (अनुशंसित) रेंज के मुताबिक अच्छी मात्रा में सेवन ज़रूरी है। यह एक अफवाह कि इन पोषक तत्वों को ज़्यादा मात्रा में लेने से अतिरिक्त फ़ायदा होगा। इसलिए इन्हें रेकमेंडेड (अनुशंसित) रेंज के अंदर ही लेना चाहिए।

इम्यूनो स्केल आपको हर मुख्य पोषक तत्व के बारे में ज़्यादा बेहतर तरीके से समझने, रेसिपी और आर्टिकल का सुझाव देने में भी मदद करेगी।

पैमाने के लिए तर्क नीचे दिया गया है:
आरडीए आरडीए के 15% तक की खपत* आरडीए के 15% से 30% तक की खपत टीयूएल तक आरडीए का 30% और अधिक की खपत टीयूएल से ऊपर की खपत**
पोषक तत्वों में से किसी एक के लिए लाल पीला हरा लाल

* रेकमेंडेड डाइटरी अलाउएंस (RDA)

** टॉलरेबल अपर लिमिट (TUI)

अपने बच्चे की डाइट में इम्युनिटी बढ़ाने वाले पोषक तत्वों को मापें

कृपया अपने बच्चे के विवरण का चयन करें

हमें अपने बच्चे की उम्र बताएं

2 साल

0 महीने

2 साल
12 साल
  • इम्युनिटी क्या होती है?

    हमारे शरीर के अंदर खुद की रक्षा करने और इंफेक्शन, बीमारियों से लड़ने की ताकत होती है। इसे इम्यून सिस्टम कहते हैं। हमारी इम्युनिटी जितनी ज़्यादा मजबूत होगी, हमारे शरीर की बीमारियों से लड़ने की ताकत भी उतनी ही बढ़ेगी।

    इम्युनिटी की शुरुआत खाने से ही होती है। जब हमारे बच्चे बहुत छोटे होते हैं, तो उन्हें प्लेसेंटा (गर्भनाल) और माँ के दूध के ज़रिए अपनी माँ से इम्युनिटी सेल्स मिलती हैं। वक्त के साथ-साथ बच्चे का इम्यून सिस्टम भी मैच्योर हो जाता है और यह अपने आप ही इंफेक्शन से लड़ सकता है।

    अच्छी नींद और आराम, एक्सरसाइज के साथ संतुलित डाइट जैसी अच्छी लाइफस्टाइल से बच्चे के इम्यून सिस्टम को मजबूत करने में मदद मिलती है।

  • इम्यून सिस्टम को किस तरह से मजबूत बनाया जा सकता है?

    न्यूट्रिशन और इम्युनिटी एक दूसरे से जुड़े हुए हैं। इम्यून सिस्टम काम करने के लिए डाइट से मिलने वाले पोषक तत्वों पर निर्भर होता है। इम्युनिटी बढ़ाने में मदद करने वाले सबसे ज़रूरी माइक्रो न्यूट्रिएंट हैं : विटामिन A, C, D, E, B2, B6, और B12, फोलिक एसिड, बीटा कैरोटीन, आयरन, सेलेनियम और ज़िंक।

    अपने बच्चे की डाइट में ये ज़रूरी पोषक तत्व शामिल करने से इम्यून सिस्टम को इंफेक्शन से लड़ने में मदद मिलती है।

    यहाँ पर इन पोषक तत्वों के बारे में ज़्यादा जानकारी लें।

  • RDA क्या है?

    RDA का पूरा मतलब रेकमेंडेड डाइटरी अलाउएंस होता है। यह रोज़ाना ली जाने वाली डाइट में न्यूट्रिएंट की मात्रा बताता है जो उम्र के किसी ख़ास पड़ाव और लिंग समूह के लगभग सभी सेहतमंद लोगों (97-98%) में पोषक तत्वों की ज़रूरतों को पूरा करने के लिए काफी होती है।

  • TUL क्या है?

    TUL का पूरा मतलब टॉलरेबल अपर लिमिट होता है। यह रोज़ाना लिए जाने वाले न्यूट्रिएंट की औसत उच्चतम मात्रा के बारे में बताता है।

    जब TUL से ज़्यादा मात्रा में न्यूट्रिएंट लिए जाते हैं, तो न्यूट्रिएंट के आधार पर कुछ लोगों को ख़ास ध्यान देने की ज़रुरत पड़ सकती है।