खाने में नखरे करने वाले बच्चों को खाना खिलाने के पांच आसान तरीके

खाने में नखरे करने वाले बच्चों को खाना खिलाने के पांच आसान तरीके

क्या आपका बच्चा कुछ चुनिंदा चीज़ें ही खाता है? अगर हाँ तो आप जानते होंगे कि ऐसे बच्चे को खाना खिलाना कितना मुश्किल है।

यहाँ कुछ सुझाव और तरीके दिए गए हैं, जो एक छोटे, खाने में नखरे दिखाने वाले, बच्चे को संभालने में आपकी सहायता करेंगे:

  1. सब्जियों को नापसंद करने वाले बच्चे को सब्जियां खाना सिखाएं

    • सब्जियां खाने में तो बड़ों की भी अपनी पसंद होती है तो फिर बच्चे तो बच्चे हैं। सब्जियां मिनरल्स और विटामिन से भरपूर होती हैं जो हड्डियों और मांसपेशियों को मजबूत करती हैं । इनमें फाइबर भी भरपूर मात्रा में होते हैं जो बदहज़मी और खून में शुगर को कंट्रोल करने में मदद करते हैं। पर अगर आपका बच्चा सब्जियां देखकर मुंह बनाता है, तो इसका मतलब यह है कि वह सब्जी खाना पसंद नहीं करता।
    • हाल में हुई स्टडीज़ के अनुसार, छोटे बच्चे के साथ किसी भी नए खाने को आज़माने में 15 बार तक कोशिश करनी पड़ सकती है। एक्सपर्ट्स सलाह देते हैं कि मां, अपने बच्चे को नई चीज़ खिलाने की कोशिश बार- बार करती रहे वह भी बिना किसी जबरदस्ती के । इससे बच्चे में नया खाना खाने की इच्छा बढ़ती है। आख़िरकार, सब्जियों के बिना खाने में कई ज़रूरी मिनरल्स और पोषक तत्वों की कमी होती है जो आपके बच्चे के विकास के लिए बहुत ज़रूरी हैं।
  2.  
  3. अपने बच्चे की प्लेट में खाना मिक्स ना हो इसके लिए उन्हें अलग-अलग रखें:

    • बहुत सी माएं बच्चे को सारा खाना एक साथ मिलाकर खिलाती हैं जैसे दाल - चावल और मसले हुए आलू। पर बहुत बार ऐसा खाना देखकर बच्चा चिढ़ जाता है और खाना नहीं खाता। ऐसे में खाने को मिक्स करने कि बजाय अलग अलग दें ताकि प्लेट साफ दिखे। इस तरह, बच्चे को प्लेट में खाना फैला हुआ नहीं दिखेगा और वह आसानी से खा लेगा।
    • आप अपने बच्चे को एक ही प्लेट में अलग अलग खाना परोस सकती हैं या आप उसे अलग -अलग खांचे वाली प्लेट में भी खाना दे सकती हैं। बच्चे को खिलाते समय इस बात का ध्यान रखें कि ऐसा खाना जो उसे कम पसंद हो वो उसे रोटी के साथ खिलाएं । इस तरीके से आपकी मुश्किल आसानी से हल हो सकती है।
  4. फलों को अलग-अलग तरीके से खिलाने की कोशिश करें:

    • क्या आपका बच्चा फल नहीं खाता? चिंता मत कीजिये यह एक आम समस्या है, जब भी माँ फल खिलाने की कोशिश करती है, बच्चे उसे साफ़ मना कर देते हैं। फलों में बहुत से पोषक तत्व होते हैं । फल सौ प्रतिशत कोलेस्ट्रॉल फ्री होते हैं और प्राकृतिक रूप से मीठे होते हैं। इसीलिए सभी माएं अपने बच्चे को फल खिलाना चाहती हैं।
    • बच्चों को फल खिलाने के लिए आप फलों की अलग- अलग रेसिपीज़ जैसे स्मूदीज़ या कस्टर्ड बनाकर उन्हें चॉकलेट सिरप और चेरीज़ से सजाकर दे सकती हैं। इस तरह से आप अपने बच्चे को आसानी से बहुत से फल खिला सकती हैं। भरोसा कीजिये ये रेसिपीज़ जल्दी बन जाती हैं और बनाने में आसान भी होती हैं।
  5. सिर्फ़ फ़ास्ट फ़ूड खाने वाले बच्चे के लिए घर पर ही खाना बनाएं :

    • अगर आपका बच्चा जंक फ़ूड जैसे बर्गर या पिज़्ज़ा खाना पसंद करता है, तो ये आपके बच्चे की सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकते हैं क्योंकि इनमें पोषण कम और फैट्स, सोडियम और शुगर ज़्यादा होती है। और तो और ये सब खराब क्वालिटी के तेल और गंदे तरीके से बनाये जाते हैं।

    ऐसे बच्चों की माएं घर पर ही उनके लिए बहुत सारी खाने की चीज़ें बना सकती हैं जैसे: नूडल्स, वेजिटेबल रोल्स, वेजिटेबल सैंडविचेज़ आदि। घर पर बना हुआ कोई भी खाना बाहर बने हुए खाने से ज़्यादा साफ और सेहतमंद होता है। याद रखें, आप एक माँ हैं, और आपको ही अपने बच्चे को अपने खाने को पसंद करना सिखाना होगा!

  6. खाने में अपने बच्चे की पसंद की चीज़ें मिलाएं

    • क्या आप परेशान हैं क्योंकि आपका बच्चा एक ही तरह की चीज़ खाता है और दूसरी नई चीज़ें खाने से मना कर देता है? चिंता करने की ज़रूरत नहीं है। पता करने की कोशिश करें कि आपके बच्चे को वही चीज़ क्यों पसंद है या उसमें डली ऐसी कौन सी चीज़ है जिसकी वजह से उसे वह खाना पसंद है।
    • उसकी पसंद की चीज़ जानने के बाद आप उस मसाले को या सब्जी को नई चीज़ में मिलाकर उसे दे सकती हैं। याद रखें कोई भी चीज़ खाने का दबाव डालने से पहले आपको अपने बच्चे की पसंद पता होनी चाहिए।

ऊपर बताए हुए तरीकों से आप खाने में नखरे करने वाले अपने बच्चे को सेहतमंद खाना खिला सकती हैं और उसके नखरे कम कर सकती हैं।