A short guide to introducing finger foods to your baby

बच्चे को अपने हाथ से खाना सिखाने के लिए सबसे अच्छी गाइड

बच्चे को अपने हाथ से खाते देखना, एक माँ के लिए बहुत ही सुखद अहसास होता है। जब बच्चा पहली बार खुद से खाना खाता है तब उसके चेहरे पर आई ख़ुशी को हर माँ देखना चाहती है।

बच्चे को अपने हाथ से खाना सिखाना जितना आसान लगता है, उतना है नहीं क्योंकि शुरु में यह बहुत तनावपूर्ण हो सकता है। फिर भी, एलर्जी और गले में फंसने जैसे खतरों के बारे में आपकी सभी चिंताओं को ध्यान में रखते हुए, यहाँ कुछ शानदार तरीके दिए गए हैं जो आपके बच्चे को अपने हाथ से खाना सिखाने के लिए सबसे बेहतरीन हैं:

  • अपने हाथ से खाना सिखाने के साथ अपने बच्चे में सेहतमंद खाने की आदतें डालें: बच्चे को खुद से खाने के लिए बढ़ावा दें और ज़रूरत पड़ने पर उसकी सहायता करें।

  • ऐसी चीज़ों से परहेज करें जिन्हें खाने में मुश्किल हो: ऐसा खाना जो बच्चे के गले में फँस सकता हो, उन्हें बच्चे को अपने हाथ से खाने को ना दें बल्कि उसे ऐसी चीज़ें दें जो वो आसानी से खा सके।

  • खाने को पकड़ना आसान होना चाहिए: ध्यान रखें कि आप उसे जो भी खाना दें वो पकड़ने में आसान हो। फलों, सब्ज़ियों और मांस को छोटे टुकड़ों में काटकर दें और उन्हें खाने के लिए एक छोटी चम्मच साथ में दें। आलू और सब्ज़ियों को मसलकर दें ताकि वो आसानी से खा सकें।

  • खाना गले में ना फँसे: इस बात का भी ध्यान रखें कि खाना बच्चे के गले में फँस ना जाए। छोटी गोल चीज़ें जैसे अंगूर, पॉपकॉर्न, उबले कॉर्न के दाने, किशमिश वगैरह ना खिलाएं।

  • बच्चे को अलग-अलग स्वाद और बनावट का खाना देते रहें: इससे बच्चे को अलग-अलग स्वाद का खाना खाने की आदत हो जाती है, जिससे आगे जाकर वो नखरे कम करते हैं।

  • तले हुए खाने से परहेज करें: बच्चे को हाथ से खाने वाली चीज़ें देते समय याद रखें कि उन्हें तली हुई चीज़ें बिल्कुल ना दी जाए। ये बच्चे की सेहत के लिए अच्छी नहीं होती हैं।

  • ज़बरदस्ती खाना ना खिलाएं: अगर आपका बच्चा किसी चीज़ को खाने से मना कर देता है तो उसे ज़बरदस्ती ना खिलाएं बल्कि थोड़े दिनों बाद उसे वही चीज़ अलग तरीके से बनाकर खाने को दें। कई बार ज़बरदस्ती खिलायी गई चीज़ बच्चा हमेशा के लिए नापसंद कर देता है।

  • खाना ऐसा हो जो भूख बढ़ाए: कई बच्चे चीज़ों को देखकर उसे खाना पसंद करते हैं। अगर उन्हें खाना देखने में पसंद आता है तो वो उसे खा सकते हैं। इसलिए अपने बच्चों के लिए ऐसा खाना बनायें जो देखने में ही मज़ेदार लगे तभी आपका बच्चा आसानी से वो खाना खायेगा।

  • खाना खाते समय आस पास का माहौल बहुत मायने रखता है: परिवार के साथ मिलकर खाना खाने से बच्चे पर अच्छा असर पड़ता है। इससे बच्चा अपने खाने को ज़्यादा पसंद करता है। बच्चे अपने परिवार के उन सदस्यों की नकल करते हैं जिनको वे ज़्यादा पसंद करते हैं। अगर बच्चा अपने परिवार में खायी जाने वाली चीज़ों को पसंद करता है, तो उन्हें खिलाए जाने पर वह कोई नखरे नहीं करेगा।

  • अपने बच्चे को ज़रूरी मात्रा में पोषक तत्व दें: माँ के दूध के साथ, पोषक तत्व से भरपूर खाने की चीज़ें आपके बच्चे की पोषण संबंधी ज़रूरतों को पूरा करती हैं। इसलिए ज़रूरी है कि आपके बच्चे के आहार में ज़्यादा से ज़्यादा हिस्सा पौष्टिक तत्वों का होना चाहिए.

बच्चे की खाने की ज़रूरतों को सही तरीके से पूरा करने के लिए एक माँ को जानना ज़रूरी है कि बच्चे को अपने हाथ से खाना कैसे सिखाएं। ऊपर दिए गए सुझावों को अपनाकर आप अपने बच्चे को अच्छी और अलग-अलग स्वाद वाली चीज़ें खुद से खाना सिखा सकती हैं।