Benefits of probiotic dahi

प्रोबायोटिक दही के फ़ायदे

बच्चों को प्रोबायोटिक दही खिलाना बहुत फ़ायदेमंद होता है। अगर आप जानना चाहते हैं कि यह आपके बच्चे को सेहतमंद रखने में कैसे मदद करता है तो आगे दी गई जानकारी को पढ़ें।

प्रोबायोटिक दही के फ़ायदों के बारे में जानना क्यों ज़रूरी है?

दही, खाने के साथ या किसी दूसरी तरह से खाया जाता है। यह दूध से बनी एक चीज़ है जिससे हमें एनिमल प्रोटीन के साथ -साथ दूसरे पोषक तत्व जैसे कैल्शियम, विटामिन बी-2, विटामिन बी-12, मैग्नेशियम, पोटैशियम आदि मिलते हैं। योगर्ट में "लैक्टोबैसिलस" नाम का बैक्टीरिया होता है जो पाचन तंत्र के लिए काफी अच्छा होता है। हालांकि, सेहत को फ़ायदा पहुँचाने के लिए ज़रूरी है कि यह बैक्टीरिया पेट के एसिड से बचा रहे और आंतों तक पहुंचे।

प्रोबायोटिक अच्छे बैक्टीरिया होते हैं जो हमारे पाचन तंत्र का ज़रूरी हिस्सा हैं। ये हमारी सेहत को कई तरह से फ़ायदा पहुंचाने वाले सूक्ष्मजीव होते हैं। ये नुकसान पहुँचाने वाले सूक्ष्मजीवों को नष्ट करके पेट में संतुलन बनाकर उसे सेहतमंद रखते हैं।

कुछ आमतौर पर पायी जाने वाली प्रोबायोटिक्स की किस्मों के बारे में नीचे दिया गया है:

  • लैक्टोबैसिलस बल्गारिकस
  • लैक्टोबैसिलस एसिडोफिलस
  • लैक्टोबैसिलस केसी
  • लैक्टोबैसिलस गैसेरी
  • लैक्टोबैसिलस प्लांटरम
  • बिफीडोबैक्टीरियम बिफिडम
  • बिफीडोबैक्टीरियम लैक्टिस
  • बिफीडोबैक्टीरियम लोंगम
  • एंटरोकोकस फ़ेकियम
  • सॅकॅरोमाइसस बुलार्डी

एंटीबायोटिक का इस्तेमाल आमतौर पर बच्चों को हुए संक्रमण का इलाज करने में किया जाता है। हालांकि, कई बार ये नुकसान करने वाले बैक्टीरिया के साथ-साथ फ़ायदा पहुँचाने वाले बैक्टीरिया को भी नष्ट करके संतुलन बिगाड़ देते हैं। इससे गैस, मरोड़ और डायरिया की समस्या हो सकती है। प्रोबायोटिक्स पेट के संतुलन को सही करके उसे फिर से सेहतमंद बनाते हैं।

बढ़ते हुए नवजात शिशुओं और बच्चों को ताकत पाने के लिए सही मात्रा में पोषण की ज़रूरत होती है। प्रोबायोटिक्स, खाने में से प्रोटीन और वसा को तोड़कर इसे शरीर के लिए फ़ायदेमंद बनाते हैं।

संक्रमण होने से बच्चों के शारीरिक विकास में रुकावट आ सकती है। प्रोबायोटिक्स, पेट को संक्रमण से बचाते हैं।

सक्रिय और निष्क्रिय कल्चर में अंतर

द नेशनल योगर्ट एसोसिएशन के हिसाब से "ज़िंदा और सक्रिय" कल्चर का मतलब है ऐसा योगर्ट जिसमें लैक्टोबैसिलस बुलगारिकस और स्ट्रैपटोकोकस थर्मोफाइल पाया जाता है। ये जीवाणु फर्मेन्टेशन से बनते हैं और ऐसा माना जाता है कि यही योगर्ट को सेहत के लिए फ़ायदेमंद बनाते हैं।

सेहत संबंधी कुछ फ़ायदों के बावजूद, योगर्ट को पूरी तरह से प्रोबायोटिक्स नहीं कहा जा सकता क्योंकि इसमें ज़िंदा बैक्टीरिया पर्याप्त मात्रा में नहीं होते हैं।

प्रोबायोटिक दही के सेहत से जुड़े फ़ायदे

प्रोबायोटिक दही (इसे प्रोबायोटिक कर्ड या प्रोबायोटिक योगर्ट भी कहा जाता है) के सेहत से जुड़े फ़ायदे नीचे दिए गए हैं:

  • यह रोगों से लड़ने की शक्ति को बढ़ाता है और कई तरह के संक्रमण व रोगों से बचाव करता है।
  • यह कई बीमारियों जैसे कब्ज़, योनि संक्रमण, कैंडिडिआसिस, रूमेटाइड आर्थराइटिस, यूरिनरी इन्फ़ेक्शन के इलाज में बहुत फ़ायदेमंद होता है।
  • यह संक्रमण और एंटीबायोटिक से होने वाले डायरिया के इलाज के लिए काफ़ी फ़ायदेमंद है।
  • यह इर्रिटेबल बोवेल सिंड्रोम (अनियमित मलत्याग), अल्सरेटिव कोलाइटिस (आंतों की सूजन), और क्रोहन रोग में काफ़ी आराम देता है।

क्या प्रोबायोटिक्स पेट के खतरनाक एसिड में ज़िंदा रह पाते हैं?

पेट में 1.8 से 3.5 तक pH होता है। पेट का एसिडिक नेचर उसके सेल की परतों द्वारा हाइड्रोक्लोरिक एसिड को निकालने की वजह से होता है। पेट के एसिड खाने के ज़रिये शरीर में जाने वाले अच्छे और बुरे दोनों तरह के बैक्टीरिया को नष्ट कर सकता है। हालांकि, यह साबित हो चुका है कि बैक्टीरिया की कुछ किस्में पेट के एसिड से बचकर आंतों तक पहुंच सकती हैं। यह प्रोबायोटिक में मौजूद बैक्टीरिया की किस्म पर निर्भर करता है।

प्रोबायोटिक्स आमतौर पर सुरक्षित माने जाते हैं और बच्चों के लिए फ़ायदेमंद होते हैं। प्रोबायोटिक माने जाने के लिए, योगर्ट में ऊपर दिए गए बैक्टीरिया की किस्मों में से एक का मौजूद होना ज़रूरी है। प्रोबायोटिक दही या प्रोबायोटिक कर्ड सेहत को बहुत फ़ायदा पहुँचाते हैं और आपके बच्चे को सेहतमंद रखने में मदद करते हैं।

Ready to Follow Healthy Life

You can browse our entire catalog of healthy recipes curated by a registered
dietician and professional food team.

Sign up