5 essential questions on the importance of protein

प्रोटीन के महत्त्व से जुड़े 5 ज़रूरी सवाल

अगर आप सोचते हैं कि प्रोटीन सिर्फ़ मांसपेशियों और शरीर को तंदरुस्त रखने के लिए उपयोगी है, तो आप गलत सोच रहे हैं! प्रोटीन इससे भी ज़्यादा काफ़ी कुछ करता है । प्रोटीन की शक्ति इससे काफ़ी ज़्यादा है जिसकी ज़रूरत आपके बच्चे को सबसे ज़्यादा है। आपके बच्चे के लिए प्रोटीन के महत्व जुड़े कुछ सवाल नीचे दिए गए हैं :

Q. प्रोटीन हमारे शरीर की क्रियाओं पर कैसे असर डालता है ?

बच्चों लिए प्रोटीन बहुत ज़रूरी है, क्योंकि प्रोटीन शरीर के लगभग हर गतिविधि में भाग लेते हैं। आपके बच्चे के रक्त में जो हीमोग्लोबिन पाया जाता है वो भी एक प्रकार का प्रोटीन ही है। इस प्रोटीन के बिना रक्त शरीर के अंगों तक ऑक्सीजन नहीं पहुंचा सकता है। ठीक इसी तरह आपके बच्चे के लार और पाचन तंत्र में मौजूद एंज़ाइम भी प्रोटीन ही हैं। ये भोजन को पचाने और उससे पोषक तत्व सोख लेने में मददगार साबित होते हैं।अगर आपका बच्चा कम मात्रा में अनाज और कार्बोहाइड्रेट खाता है तो प्रोटीन आपके बच्चे को एनर्जी (ऊर्जा) देगा।

Q. प्रोटीन से हड्डियां कैसे मजबूत होती हैं?

बच्चों के लिए प्रोटीन की सलाह देने का मुख्य कारण ये है कि प्रोटीन हड्डियों को बेहतर तरीके से और ज़्यादा मज़बूत बनाता है। अगर आपके बच्चे को पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन नहीं मिला तो उसकी हड्डियां कमज़ोर पड़ सकती हैं, और उनका विकास सामान्य विकास से कम हो सकता है, जिससे बच्चे की लंबाई कम रह सकती है।

Q. प्रोटीन से इम्युनिटी यानि रोग प्रतिरोधक क्षमता कैसे बढ़ती है?

आमतौर पर रोग प्रतिरोधक क्षमता का संबंध विटामिन के सेवन से होता है, लेकिन आपके बच्चे को फ़्लू और अन्य इंफ़ैक्शन से बचाने के लिए प्रोटीन काफ़ी मदद करता है।

Q. छोटे बच्चों के लिए कितनी मात्रा में प्रोटीन देना सही रहता है?

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद् (ICMR) के मुताबिक 1 से 3 साल तक के बच्चों के लिए प्रोटीन की आदर्श मात्रा 16 से 17 ग्राम हर दिन है।

Q. छोटे बच्चों के लिए प्रोटीन युक्त आहार कौन-कौन से हैं?

बच्चों के नाश्ते, लंच और डिनर में प्रोटीन भी शामिल करना चाहिए। दूध से बनी चीज़ें जैसे लस्सी, दही, पनीर, पीनट बटर बच्चों के लिए प्रोटीन से भरपूर आहार के अच्छे उदाहरण हैं। आप अपने बच्चे को उबली हुई अंकुरित दालें भी खिला सकती हैं।

जब आपका बच्चा थोड़ा बड़ा हो जाए तो आप उसे रोटी के आटे में मिल्क पाउडर और ग्राम फ्लौर यानि बेसन मिलाकर इस तरह प्रोटीन युक्त आहार दे सकती हैं। बच्चों को अंडे और मांस खिलाएं। शुरुआत में उन्हें चिकन खिलाएं, चिकन शुरू करने के लिए उत्तम मांस है, क्योंकि ये आसानी से पच जाता है और बच्चों को पसंद भी आता है।

अपने बच्चे को जंक फ़ूड न दें क्योंकि इसमें प्रोटीन की मात्रा काफ़ी कम होती है।