Can organic food and milk prevent allergies in your child

ऑर्गैनिक फूड : क्या यह बच्चों में होने वाले एलर्जी को रोक सकता है?

आज के समय में माता-पिता अपने बच्चों के खान-पान और उससे उनकी सेहत पर होने वाले असर और इसके पोषक तत्वों के बारे में पहले से कहीं ज़्यादा जागरूक हो गए हैं। कई लोग यह भी जानना चाहते हैं कि खाद्य पदार्थों को किस तरह उगाया गया है, कहीं वो किसी हानिकारक केमिकल या हार्मोन के संपर्क में तो नहीं आया है। यही कारण है कि आज ऑर्गेनिक (जैविक) फूड अपनाने वालों की संख्या तेज़ी से बढ़ रही है।

हालांकि, सभी भारतीय माता-पिता ऑर्गेनिक फूड के फ़ायदों और उसमें पाई जाने वाली चीजों के बारे में नहीं जानते हैं। ऑर्गेनिक फूड के बारे में लोगों की राय भी उनके स्थान, समुदाय और जीवनशैली के मुताबिक बदलती है। इसलिए, अगर आपने भी सुना है कि ऑर्गेनिक (जैविक) सब्ज़ियों, फलों और दूध के इस्तेमाल से बच्चों को एक्ज़िमा (त्वचा से जुड़ी एलर्जी) और अस्थमा जैसी बीमारियों से बचाया जा सकता है तो आपको इस आर्टिकल को ज़रूर पढ़ना चाहिए और पता लगाना चाहिए कि क्या खरीदना चाहिए। तो चलिए पता करते हैं।

ऑर्गेनिक फूड क्या होता है?

ऑर्गेनिक (जैविक) शब्द का मतलब उस तरीके से है जिससे खेतों में खाद्य पदार्थों को उगाया जाता है। हर देश में इसे उगाने का तरीका अलग है पर इस बात पर सभी सहमत हैं कि ऑर्गेनिक फसलों को आर्टिफीशियल कीटनाशक, जीएमओ या बायोइंजीनियरिंग जीन, पेट्रोलियम पदार्थों से बने उर्वरक और सीवेज की गंदगी से बने उर्वरक को डाले बिना उगाया जाना चाहिए। गाय और मुर्गी जैसे जानवर जो माँस , अंडे या दूध के लिए पाले जाते हैं, उन्हें खोलकर रखना चाहिए और घूमने की आज़ादी होनी चाहिए, साथ ही इनका आहार भी ऑर्गेनिक होना चाहिए। इसके साथ ही इन्हें किसी भी तरह का ग्रोथ हार्मोन, एंटी बायोटिक या दूसरे जानवरों के उत्पाद नहीं दिए जाने चाहिए। भारत में खाद्य सुरक्षा और मानक (ऑर्गेनिक फूड ) विनियम 2017 के मुताबिक, सभी ऑर्गेनिक प्रॉडक्ट भारत ब्रांड द्वारा प्रमाणित किए जाते हैं।

ऑर्गेनिक फूड के क्या फ़ायदे हैं?

ऑर्गेनिक (जैविक) फूड को जिन तरीकों से उगाया जाता है, उस कारण से इनके बहुत सारे फ़ायदे हैं। इनके कुछ फ़ायदे इस प्रकार हैं:

  • इनमें कीटनाशक और इनके अवशेष की मात्रा काफी कम होती है
  • ऑर्गेनिक फूड अक्सर ताज़ा होते हैं क्योंकि इन्हें बहुत छोटे-छोटे हिस्सों में उगाया जाता है
  • ऐसा माना जाता है कि जो जानवर ऑर्गेनिक (जैविक) मानकों के मुताबिक पाले जाते हैं, वे ज़्यादा सेहतमंद होते हैं क्योंकि इन्हें बांध कर के एक जगह पर नहीं रखा जाता, ये खुले में घूमते हैं और खुलकर खाते हैं।
  • ऑर्गेनिक फूड में कुछ पोषक तत्वों की मात्रा काफी ज़्यादा होती है। पुराने ढंग से पाले गए जानवरों के माँस और दूध की तुलना में ऑर्गेनिक माँस और दूध में कुछ ख़ास पोषक तत्वों के साथ ओमेगा- 3 फैटी एसिड और एंंटीऑक्सिडेंट की मात्रा काफी ज़्यादा होती है।

क्या सच में ऑर्गेनिक (जैविक) फूड बच्चों में एलर्जी का ख़तरा कम करने में मदद करते हैं?

कई लोग बताते हैं कि ऑर्गेनिक (जैविक) डाइट लेने के बाद उनके बच्चों में एलर्जी के लक्षण कम हुए हैं। शोधकर्ताओं ने इसे वैज्ञानिक तरीके से समझने के लिए अध्ययन किए हैं ताकि वे और सही जवाब दे सकें।

इस बारे में हॉलैंड में गर्भवती महिलाओं और उनकी डाइट पर अध्ययन किया गया और फिर बाद में अलग-अलग आयु वर्ग के उनके बच्चों और बच्चों की डाइट पर अध्ययन किया गया। उन्होंने जो खाया उस आधार पर इन्हें नीचे बताए गए तीन समूहों में बाँटा गया

  • पारंपरिक डाइट (खाया गया 50% आहार ऑर्गेनिक था)
  • मध्यम रूप से ऑर्गेनिक (50-90% खाया गया आहार ऑर्गेनिक था)
  • पूरी तरह से ऑर्गेनिक (90% से भी ज़्यादा खाया गया आहार ऑर्गेनिक था)

यह पाया गया कि जिन बच्चों ने मध्यम रूप से या पूरी तरह से ऑर्गेनिक डाइट का सेवन किया था, उनकी एग्ज़ीमा और सांस की तकलीफ़ के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता, पारंपरिक आहार लेने वाले बच्चों की तुलना में ज़्यादा नहीं थी। इसके अलावा यह भी पाया गया कि ऑर्गेनिक खाद्य पदार्थों के सेवन से एलर्जी का जोखिम कम नहीं होता है। हालांकि यह बात देखी गई कि जिन बच्चों ने 90% से भी ज़्यादा समय ऑर्गेनिक दूध पिया था, उनमें एग्ज़ीमा की संभावना बहुत कम थी। इसलिए, एलर्जी के विकसित होने के खिलाफ ऑर्गेनिक फूड की सुरक्षात्मक भूमिका खाद्य-विशिष्ट (फूड स्पेसिफिक) पाई गई। हालांकि, कुछ दूसरे शोधकर्ताओं ने पाया है कि एलर्जिक राइनाइटिस (पराग कण से एलर्जी) वाले लोग अपने पारंपरिक आहार की तुलना में ख़ास ऑर्गेनिक फूड को खाने में बेहतर महसूस करते हैं। उनका मानना है कि ऐसा या तो इम्यून सिस्टम के कीटनाशक अंशों की उत्तेजना कम होने या ऑर्गेनिक फूड में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट के ऊँचे स्तर के कारण हो सकता है।

निष्कर्ष

इस बात का कोई प्रमाण नहीं है कि आपके बच्चे के लिए पारंपरिक तौर पर उगाए गए खाद्य पदार्थों की तुलना में ऑर्गेनिक फूड ज़्यादा फ़ायदेमंद हैं। हालांकि इसमें कोई शक नहीं कि ऑर्गेनिक फूड ज़्यादा प्राकृतिक होते हैं और ये नुकसान नहीं पहुँचाते हैं । इसलिए पूरी तरह से या आंशिक तौर पर ऑर्गेनिक खाद्य पदार्थों को आपके बच्चे की डाइट में शामिल किया जा सकता है।