आपके बच्चे के लिए संपूर्ण फीडिंग गाइड

आपके बच्चे में घुटने के बल चलने से लेकर खुद बैठना सीखने तक, कई बदलाव होते हैं। इस दौरान आपके बच्चे की खाने-पीने की आदतों में भी बदलाव आते हैं।

ये कुछ ऐसे बदलाव हैं जिन्हें देखकर आप खुश होती हैं लेकिन इन सब के बीच आपके मन में कुछ उलझनें और सवाल भी आते हैं। अगर आपके साथ भी कुछ ऐसा ही है तो अब चिंता करना छोड़ दीजिए! यहाँ कुछ ऐसे सवालों के जवाब दिए जा रहे हैं जिनसे आपको अपने बच्चे के खाने-पीने के बारे में काफी जानकारी मिलेगी:

प्रश्न: 6 -8 महीने के बच्चे को खाने में क्या क्या दे सकते हैं?

अपने बच्चे को ठोस आहार देने की शुरुआत करने के लिए 6 महीने की उम्र सबसे सही होती है। पका हुआ केला, शकरकंद, उबालकर मसले हुए चावल व गेहूं का दलिया आपके शिशु को दिए जा सकने वाले सबसे अच्छे आहार हैं।

प्रश्न: 8 -10 महीने के बच्चे को क्या खिलाना चाहिए?

जब आपका बच्चा आठ महीने का हो जाता है तो आप उसके खाने में दूध-रोटी, हरी पत्तेदार सब्ज़ियाँ, उपमा और दही चावल जैसी कुछ और चीज़ें शामिल कर सकती हैं। आप उसे 2-3 फल व सब्ज़ियों और अलग-अलग अनाज मिलाकर भी दे सकती हैं।

प्रश्न: आपका बच्चा कितना गाढ़ा आहार खा सकता है?

आपको ब्रेस्टफीडिंग (स्तनपान) टिप्स का पालन करने के साथ -साथ अपने बच्चे के ठोस खाने के गाढ़ेपन का भी ध्यान रखना चाहिए। 6 से 8 महीने की उम्र के बच्चों को पतली चीज़ें जैसे प्यूरी और अच्छे से मैश किया हुआ खाना ही देना चाहिए। आप उसे 8 महीने की उम्र के बाद थोड़ा ज़्यादा ठोस खाना दे सकती हैं।

प्रश्न: अपने बच्चे को कितना खाना खिलाना चाहिए?

जिस तरह से आपको नवजात बच्चों के लिए ब्रेस्टफीडिंग (स्तनपान) टिप्स में सलाह दी जाती है कि ब्रेस्टफीडिंग के दौरान अपने बच्चे के पेट भरने पर उसके इशारों को समझना चाहिए, ठीक उसी तरह खाने के दौरान भी पेट भरने पर आपको उसके इशारों को समझना चाहिए। ठोस खाना खिलाने की शुरुआत करते वक्त अपने बच्चे को 1 बड़ा चम्मच भर कर खिला सकती हैं। फिर धीरे-धीरे उसे बढ़ाकर 2 -3 चम्मच करें और बच्चे के 10 महीने का होने तक इस मात्रा को 1/2 कप तक बढ़ा सकती हैं।

प्रश्न: बच्चे को दिन में कितनी बार खाना खिलाना चाहिए?

जिस तरह से आपके बच्चे की बढ़ती उम्र के मुताबिक आपका ब्रेस्ट फीडिंग का वक्त भी बदलता है, ठीक उसी तरह उनकी उम्र के साथ ऊपरी आहार (कम्प्लीमेंट्री फ़ूड) में भी बदलाव होता है। आप उसे दिन में 1 से 2 बार ठोस आहार खिलाने से शुरुआत कर सकती हैं और बच्चे के 8 -10 महीने का होने तक इसे धीरे-धीरे दिन में 3 से 4 बार तक बढ़ा सकती हैं।

प्रश्न: बच्चे के खाने में नई चीज़ों को कैसे शामिल करें?

बच्चे के खाने में हमेशा एक बार में एक ही नई चीज़ शामिल करनी चाहिए। बच्चा किसी नए खाने को पसंद करने या न करने से पहले 7-8 बार उसे खाने से मना कर सकता है। बच्चे को ज़बरदस्ती कुछ भी नया नहीं खिलाना चाहिए।

प्रश्न: बच्चे के लिए खाना खाने की एक्टिविटी को मज़ेदार कैसे बनाया जाए?

‘ब्रेस्ट फीडिंग (स्तनपान) कराने वाली माएँ बच्चों को ठोस आहार देना कैसे शुरू करें’ यह इंटरनेट पर बहुत ज़्यादा सर्च किया जाने वाला सवाल है। इस अनुभव को मज़ेदार बनाने के लिए अपने बच्चे को छोटे छोटे चम्मच व कप का इस्तेमाल करके खाना खिलाना शुरू करें। आप उसे खाने के दौरान बीच में पानी भी दे सकती हैं। आप अपने बच्चे के साथ बैठकर खाना खाकर भी उसे सेहतमंद खाने के लिए प्रेरित कर सकती हैं।

प्रश्न: क्या आपको ठोस आहार देना शुरू करने के बाद भी ब्रेस्ट फीड करवाना चाहिए?

ठोस आहार को माँ के दूध (ब्रेस्ट फीडिंग) की जगह दिया जाना है ये नहीं समझना चाहिए बल्कि इसे ठोस आहार के साथ भी जारी रखना चाहिए। नई माताओं के लिए ब्रेस्ट फीडिंग (स्तनपान) टिप्स में से एक सलाह यह भी है कि बच्चे को कोई भी नया आहार देना शुरू करने से पहले माँ का दूध पिलाना चाहिए। इससे आपका बच्चा ज़्यादा भूखा भी नहीं रहता और वह नई चीजें खाना भी जल्दी सीख जाता है।

प्रश्न: बच्चों के खाने में क्या- क्या शामिल नहीं करना चाहिए?

आपको अपने बच्चे के खाने में शक्कर, नमक और मसाले वाला प्रोसेस्ड फ़ूड शामिल नहीं करना चाहिए। अपने बच्चे को कैफ़ीन युक्त पेय पदार्थ जैसे कि चाय, कॉफी और कोल्ड ड्रिंक्स भी नहीं देने चाहिए।